69 साल के राजप्पन ने नदियों को साफ करने का बीड़ा उठाया

दिल में अगर ख्वाहिश हो तो मुश्किलें भी कामयाबी का सबब बन सकती है। और राजप्पन की कहानी कुछ यहीं बयां करती है। ऐसे में जब दुनिया के तमाम हिस्सों में बिखरा सिंगल यूज़ प्लास्टिक कचरा 21वीं सदी का सबसे बड़ा दुश्मन बन गया है.. पानी में रहने वाले जीवों का भी सांस लेना दूभर हो गया है, ईश्वर का अपना घर कहे जाने वाले केरल के 69 साल के राजप्पन ने नदियों को साफ करने का बीड़ा उठाया है। कोट्टायम के रहने वाले राजप्पन एक नाव किराए पर लेकर रोज़ वेंबनाड झील से प्लास्टिक का कचरा साफ करते हैं। राजप्पन को बचपन में ही पोलियो हो गया था, लेकिन पैरों की बेबसी भी उन्हें उनके इरादों को पूरा करने से नहीं रोक पाई। कई सालों से लोग उन्हें एक छोटी सी नाव में झील में से प्लास्टिक कचरा साफ करते हुए देख रहे हैं और कुछ उनसे प्रेरणा भी लेते हैं। राजप्पन झील से प्लास्टिक बोतलों को उठाते हैं और फिर उन्हें एक थैले में भरकर एक स्थानीय एजेंसी को दे देते हैं। अपने आस पास हम ऐसी कितनी ही समस्याओं को करीब से देखते हैं और देखकर नज़रअंदाज़ कर देते हैं, लेकिन राजप्पन जैसे लोग हमारे अंदर वो जज़्बा जगाते है कि ये धरती हमारी अपनी है…हमारा अपना घर… और अपने घर को साफ करने की ज़िम्मेदारी किसी और की नहीं हमारी अपनी है..तो अगर हमें अपनी आने वाली पीढ़ियों को साफ हवा और पानी देना है, तो उसके लिए पहल हमें ही करनी होगी

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks