हैदराबाद चिकित्सक हत्या मामले में 4 संदिग्ध गिरफ्तार

महिला सुरक्षा के नाम पर हैदराबाद से एक बेहद खतरनाक घटना सामने आई है. तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में बेंगलुरु हाइवे पर एक सरकारी महिला डॉक्टर की अधजली लाश मिली है ये लाश उस 27 वर्षीय महिला डॉक्टार की है जिसके साथ पहले कथित तौर पर बलात्कार किया गया और उसके बाद उसकी निर्मम हत्या करके उसके शव को जलाने की कोशिश की गई और लाश को एक फ्लाईओवर के नीचे फेंक दिया. मृत महिला डॉक्टर के साथ ये वाक्या उस वक्त हुआ जब वो बुधवार रात में अपने घर लौट रही थीं और एक टोल प्लाज़ा के पास उसकी स्कूटी पंचर हो गई थी, कुछ लोगों ने उसकी मदद के नाम पर उसके साथ ये दरिंदगी की. पुलिस की अभी तक की जांच से ये स्पष्ट नही हो पाया है कि मृत महिला ड़ाक्टर के साथ बलात्कार हुआ है कि नही. पुलिस ने घटनास्थल और आसपास से सबूत जुटाये है जिनकी फारेंसिक जांच जारी है. पुलिस ने 4 लोगों को इस मामले में हिरासत में भी लिया है जिनसे पूछतांछ से कई जानकारियां मिली है. केन्द्र सरकार ने भी इस घटना का संज्ञान लिया है केन्द्रीय गृहराज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा है कि केन्द्र सरकार सभी राज्यों को सलाह जारी करेगी कि महिला सुरक्षा के लिये एतियातन पर्याप्त कदम उठाये जायें ताकि इस प्रकार की घटनाएम न होने पायें,

इस घटना के बाद से देशभर में गुस्से का माहौल है और मृत महिला ड़ॉक्टर के परिजनों के साथ साथ अम लोगों ने भी गुनहगारों पर सख्त कार्यवाही की मांग की है.

इस घटना के बाद हैदराबाद के वकीलों ने प्रदर्शन किया और आरोपियों के मामले में उनका बचाब न करने की बात कही. इस पूरे मामले में संज्ञान लेते हुए केन्द्रीय महिला आयोग ने भी अपनी एक टीम को हैदराबाद भेजा है जो इस पूरे मामले की जांच करेगी. गौरतलब है कि गुरुवार सुबह फ्लाईओवर के नीचे मृत महिला ड़ाक्टर की लाश मिली थी, मृत महिला ड़ाक्टर की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके परिजनो ने पहले ही दर्ज कराई हुई थी. इस बीच हत्याकांड के विरोध में हैदराबाद में जमकर विरोध प्रदर्शन भी हो रहा है. इस घटना के इतर 2012 के निर्भया के मामले की दिल्ली की एक अदालत में शुक्रवार को हुई सुनवाई में सभी आरोपियों को नोटिस जारी करके पूछा गया है कि क्या वो कोई अर्जी दाखिल करना चाहते है या नही, निर्भया के मामले में वर्षो से चल रही सुनवाई के बाद भी अंतिम न्याय न मिल पाने के बाद निर्भया की मां ने कहा है कि महिला सुरक्षा के लिये सरकार को और ज्यादा प्रबंध करने चाहिये और फास्ट ट्रैक कोर्ट के माध्यम से दोषियो को जल्द सजा देने का प्रावधान करना चाहिये.

निर्भया मामले के बाद देश में महिला सुरक्षा के लिये निर्भया फंड बनाया गया था जिसके माध्यम से सभी राज्यों में सुरक्षा के तमाम इंतजाम किये जाने है और पीडित महिला की सहायता के लिये वन स्टाप सेंटर बनाने है लेकिन अभी तक सभी राज्यों में निर्भया फंड का प्रभावी इस्तेमाल करके महिला सुरक्षा के लिये पर्याप्त कदम नही उठाये है जिसके चलते आये दिन महिलाओ के खिलाफ अपराध के मामले सामने आते रहते है.

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks