सीमा पर शांति चाहता है भारत, एक इंच भी ज़मीन दूसरों के हाथ नहीं जाने देंगे: रक्षा मंत्री

चीन से तनातनी के बीच जवानों का मनोबल बढ़ाने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के साथ दशहरा मनाया. पश्चिम बंगाल और सिक्किम के दो दिवसीय दौरे पर गए रक्षा मंत्री सुकना स्थित ‘वार मेमोरियल’ पहुंचे जहां उन्होंने मां भारती के वीर सपूतों को नमन किया. रक्षा मंत्री ने सुकना में ही ‘शस्त्र पूजा’ भी की. इस दौरान सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे भी उपस्थित रहे. रक्षा मंत्री ने पारंपरिक तरीक़े और विधि-विधान के साथ घातक और अत्‍याधुनिक हथियारों की भी पूजा की. राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि शस्त्रपूजन भारत की सैन्य परम्परा का अभिन्न अंग है. विजयादशमी के पावन अवसर पर ‘त्रिशक्ति कोर’ के सुकना स्थित मुख्यालय में आयोजित शस्त्र-पूजन समारोह में भाग लेने का सौभाग्य मिला. सुकना स्थित 33वीं कॉर्प्स मुख्यालय पर भारतीय सेना के जवानों से मुलाकात की और तैयारियों की समीक्षा के बाद उन्होंने चीन को सख्त संदेश देते हुए कहा कि भारत सीमा पर शांति चाहता है लेकिन एक इंच भी जमीन दूसरों के हाथों में नहीं जाने देंगे.

अपनी यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह ने सिक्किम में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा बनाए गए एक एक्सल रोड का ई-उद्घाटन किया. रक्षा मंत्री ने कहा कि पुराने वैकल्पिक मार्ग NH-310 पर भारी मात्रा में भूस्खलन होती थी. ऐसे में बरसात के मौसम में लोगों के साथ-साथ सेना को भी आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. अब 19.35 किलोमीटर वैकल्पिक मार्ग NH-310 बन जाने से नाथुला सेक्टर में रक्षा तैयारियों को मज़बूती मिलेगी. उन्होंने सीमा पर उत्कृष्ट बुनियादी ढांचे को विकासित करने के लिए बीआरओ के काम की सराहना करते हुए बधाई दी.

रक्षा मंत्री ने नॉर्थ सिक्किम में भारतमाला परियोजना के अन्तर्गत ‘मंगन-चुगथांग-यूमेसेमडोंग’ और ‘चुगंथांग-लाचेन-जीमा-मुगुथांग-नाकुला’ तक 225 किलोमीटर डबल लेन सड़क का निर्माण कार्य नियोजित है. ये कार्य 9 पैकेजों में नियोजित किए गए हैं, जिनकी अनुमानित लागत 5710 करोड़ रुपए है. भारत पिछले 6 साल से लगातार और तेज़ी के साथ सीमावर्ती क्षेत्रों के दुर्गम इलाक़ों में बुनियादी ढांचे को मज़बूत कर रहा है. जिससे ना सिर्फ स्थानीय लोगों और पर्यटकों के आवागमन को सुगम बनाया जाएगा बल्कि रणनीतिक तौर पर सेना भी सशक्त होगी.

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks