सरकार ने गुरु तेग बहादुर जी की 400वीं जयंती धूमधाम से मनाने के लिए उच्चस्तरीय समिति का गठन किया

मोदी सरकार ने सिखों के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी के जयंती की 400वीं वर्षगांठ को बहुत ही धूमधाम के साथ मनाने का फैसला किया है। केंद्र ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया है। इस समिति में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृहमंत्री अमित शाह सहित कई केंद्रीय मंत्री, कई राज्यों के मुख्यमंत्री और देश भर के गणमान्य लोगों को सदस्य के तौर पर शामिल किया गया है।

समिति श्री गुरु तेग बहादुर जी की शिक्षा और विचारों का देश और दुनिया में प्रचार- प्रसार करने के लिए नीति और योजना बनाएगी तो साथ ही इसके लिए कार्यक्रमों को भी अनुमोदित करेगी। यह समिति 400 वीं वर्षगांठ से जुड़े समारोह और स्मरणोत्सव का पर्यवेक्षण और मार्गदर्शन भी करेगी। समिति समारोह के विस्तृत कार्यक्रम के लिए निश्चित तारीखें भी तय करेगी। फैसला यह भी किया गया है कि एक कार्यकारी समिति भी बनाई जाएगी, ताकि वह उच्च स्तरीय समिति द्वारा लिए गए फैसलों का कार्यान्वयन सुनिश्चित कराएं।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी,डी वी सदानंद गौड़ा, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, एस जयशंकर, रमेश पोखरियाल निशंक, प्रकाश जावडेकर, प्रहलाद सिंह पटेल और हरदीप पुरी को भी समिति का सदस्य बनाया गया है। इस उच्चस्तरीय समिति में राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के अलावा राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद आजाद को भी सदस्य बनाया गया है।

इसके अलावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाणा, उड़ीसा, तमिलनाडु और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों को भी इस उच्चस्तरीय समिति में शामिल किया गया है। समिति में विपक्षी दलों के कई सांसदों और नेताओं के अलावा देशभर के कई गणमान्य लोगों को सदस्य बनाया गया है। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला समिति के सदस्य सचिव होंगे।

सुधाकर दास, संवाददाता

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks