कोरोना के सक्रिय मरीज़ों की संख्या 85 दिनों में पहली बार 6 लाख से नीचे पहुंची

वर्तमान में देश में कुल संक्रमितों मामलों (पॉजिटिव) की संख्या में से सिर्फ 7.35 प्रतिशत ही सक्रिय मामले हैं जो 5 लाख 94 हजार 386 है. इसने गिरावट की प्रवृत्ति को मजबूती प्रदान किया है.

विभिन्न राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना के सक्रिय मामलों में विभिन्नताएं वैश्विक महामारी के खिलाफ उनकी लड़ाई में उनके प्रयासों और क्रमिक प्रगति का संकेत है.

भारत ने अब तक स्वस्थ होने वालों की संख्या में बढ़त बनाए रखी है. उपचार के बाद स्वस्थ होने वालों की कुल संख्या 73 लाख 73 हजार 375 है. भारत विश्व भर में सबसे अधिक स्वस्थ होने वाले मरीजों में शीर्ष पर बना हुआ है. सक्रिय मामलों और स्वस्थ होने वालों के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है और आज यह 67 लाख 78 हजार 989 है.

पिछले 24 घंटे के दौरान उपचार के बाद 57 हजार 386 मरीज स्वस्थ हुए हैं जबकि 48 हजार 648 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. राष्ट्रीय स्तर पर स्वस्थ होने की दर बढ़कर 91.15 प्रतिशत हो गई है. स्वस्थ होने वाले नए मरीजों में से 80 प्रतिशत 10 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में केंद्रित हैं.

एक दिन में सबसे अधिक केरल में 8 हजार मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हुए हैं, जबकि उसके बाद महाराष्ट्र और कर्नाटक में यह आंकड़ा 7000-7000 के करीब है. पिछले 24 घंटे के दौरान 48 हजार 6 सौ 48 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी.

इनमें से 78 प्रतिशत मामले 10 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में दर्ज किए गए हैं. अब भी केरल में एक दिन में 7 हजार से अधिक मरीजों में प्रतिदिन संक्रमण की पुष्टि हो रही है वहीं उसके बाद महाराष्ट्र और दिल्ली में प्रतिदिन 5,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं.

पिछले 24 घंटे के दौरान 563 मरीजों की मौत हो गई है. इनमें से 81 प्रतिशत मामले 10 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के हैं. एक दिन में सबसे अधिक महाराष्ट्र में 156 मरीजों की मौत हुई, जबकि उसके बाद पश्चिम बंगाल में 61 की मौत दर्ज की गई.

भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की 140 परीक्षण/दिन/मिलियन जनसंख्या की सलाह को पूरा करने में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है. “कोविड-19 के संदर्भ में सार्वजनिक स्वास्थ्य और सामाजिक उपायों को समायोजित करने के लिए” सार्वजनिक स्वास्थ्य मानदंड पर अपने मार्गदर्शन नोट में डब्ल्यूएचओ ने संदिग्ध मामलों के लिए व्यापक निगरानी की सलाह दी है.

एक महत्वपूर्ण उपलब्धिय के तहत, 35 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों ने सलाह से अधिक संख्या में परीक्षण किया है. प्रति दिन प्रति मिलियन जनसंख्या का राष्ट्रीय औसत परीक्षण 844 पहुंच गया है. वहीं दिल्ली और केरल में यह आंकड़ा 3000 से भी अधिक है.

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks