कृतज्ञ राष्‍ट्र राष्‍ट्रपिता और शास्‍त्री जी को उनकी जयंती पर कर रहा है श्रद्धांजलि अर्पित

Key Highlights :

महात्‍मा गांधी की 151वीं जयंती पर राष्‍ट्र कृतज्ञतापूर्वक राष्‍ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। इसके लिए देशभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इस अवसर पर विदेशों में भी महात्‍मा गांधी को याद किया जा रहा है। कोविड-19 महामारी को ध्‍यान में रखते हुए कई वर्चुअल कार्यक्रम भी आयोजित किये जा रहे हैं। राष्‍ट्र आज पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री को भी उनकी 116वीं जयंती पर याद कर रहा है। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज सुबह विजयघाट स्थित उनकी समाधि पर पुष्‍पांजलि अर्पित की।

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में राजघाट स्थित महात्‍मा गांधी की समाधि पर आज सुबह सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने बापू की समाधि पर जाकर उन्‍हें पुष्‍पांजलि अर्पित की. महात्‍मा गांधी की जयंती अंतर्राष्‍ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाई जा रही है। अपने संदेश में राष्‍ट्रपति ने गांधी जयंती पर देशवासियों से अपील की है कि वे राष्‍ट्र की प्रगति और कल्‍याण के लिए अपने आप को समर्पित करने का संकल्‍प लें। उन्‍होंने लोगों से सत्‍य और अहिंसा के गांधी जी के मंत्रों का अनुसरण करने और स्‍वच्‍छ, सक्षम, सुदृढ़ तथा खुशहाल भारत के निर्माण के उनके स्वप्न को साकार करने का भी आह्वान किया है।

उप राष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने एक ट्वीट संदेश में कहा है कि महात्‍मा गांधी ने अपने जीवन और शिक्षाओं से देशवासियों को सत्‍य, प्रेम और मानवता की नि:स्‍वार्थ सेवा का मार्ग दिखाया। उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा गांधी की अंत्‍योदय की सोच, हमें देश के सबसे उपेक्षित लोगों के उत्‍थान के लिए कार्य करने की प्रेरणा देती रहेगी। राष्‍ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि गांधी जयंती पर हम अपने प्रिय बापू को नमन करता है। उन्‍होंने कहा कि हमें उनके जीवन और महान विचारों से बहुत कुछ सीखना है। प्रधानमंत्री ने आशा व्‍यक्‍त की है कि बापू के आदर्श हमें खुशहाल और करुणामय भारत के निर्माण का रास्‍ता दिखाते रहेंगे।

पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री की 116वीं जयंती पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज सुबह विजयघाट स्थित उनकी समाधि पर पुष्‍पांजलि अर्पित की। एक ट्वीट संदेश में राष्‍ट्रपति ने कहा है कि लाल बहादुर शास्‍त्री भारत के महान सपूत थे, जिन्‍होंने अनोखी निष्‍ठा से देश की सेवा की। उन्‍होंने कहा कि लाल बहादुर शास्‍त्री ने हरित क्रांति, श्‍वेत क्रांति और युद्ध काल में जिस तरह देश का नेतृत्‍व किया वह राष्‍ट्र को हमेशा प्रेरणा देता रहेगा।

उप राष्‍ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि लाल बहादुर शास्‍त्री सादगी, विनम्रता और बुद्धिमत्‍ता के प्रतीक थे। उन्‍होंने कहा है कि शास्‍त्री जी ने अपने अनुकरणीय नेतृत्‍व से संकट के समय राष्‍ट्र का मार्ग दर्शन किया। उप राष्‍ट्रपति ने कहा है कि शास्‍त्री जी के जय जवान जय किसान के नारे ने समूचे राष्‍ट्र को आंतरिक और बाह्य खतरों से संघर्ष के लिए ऊर्जा प्रदान की। 

अपने ट्वीट संदेश में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि लाल बहादुर शास्‍त्री बड़े विनम्र और दृढ़ संकल्‍प वाले व्‍यक्ति थे। वे सादगी के प्रतीक थे और उनका जीवन राष्‍ट्र के कल्‍याण के प्रति समर्पित था। प्रधानमंत्री ने कहा है कि शास्‍त्री जी ने भारत के लिए जो कुछ किया उसके लिए राष्‍ट्र कृतज्ञतापूर्वक उनका स्‍मरण करेगा। 

Full Story at DD News

Enter your email address:

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      IndiaClicking - Buzzing News & Stocks